केन्द्रीय विद्यालय कल्पेट्टा

केंन्द्रीय विद्यालय के ध्येय

केंन्द्रीय विद्यालय के चतुर्दिक उद्देश्य हैं :

  1. केंद्रीय सरकार के स्थानांतरणीय कर्मचारियों जिसमें रक्षा तथा अर्ध सैनिक बलों के कर्मी  भी शामिल हैं, के बच्चों को शिक्षा के सामान्य कार्यक्रम के तहत शिक्षा प्रदान कर उनकी शैक्षणिक आवश्यकताओं की पूर्ति  करना ।
  2. विद्यालयी शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठता तथा गति का निर्धारण करना ।
  3. केंन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद तथा राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद जैसे अन्य निकायों के सहयोग से शिक्षा के क्षेत्र में नये नये प्रयोग तथा नवाचार को सम्मिलित करना ।
  4. बच्चों में राष्ट्रीय एकता तथा भारतीयता की भावना का विकास करना ।

    विशेषताएं :

  • सभी केंन्द्रीय विद्यालयों में समान पाठ्यक्रम तथा द्विभाषी माध्यम से शिक्षण होता है ।
  • सभी केंद्रीय विद्यालय माध्यमिक शिक्षा परिषद से सम्बध्द हैं ।
  • सभी केंद्रीय विद्यालय सह शिक्षा एवं मिश्रित विद्यालय हैं ।
  • सभी केंद्रीय विद्यालयों में कक्षा 5 से 9 तक संस्कृत पढाई जाती है ।
  • समुचित शिक्षक विद्यार्थी अनुपात द्वारा शिक्षा की गुणवत्ता उच्च स्तर की बनाये रखी जाती है ।
  • कक्षा 8 तक के लडकों, 12 वीं कक्षा तक लडकियों तथा अनुसूचित जाति तथा जनजाति के विद्यार्थियों और केंद्रीय विद्यालय संगठन के कर्मचारियों के बच्चों से शिक्षण शुल्क नहीं लिया जाता है ।

English Version